peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Mobile Blog


abhivyakti.peperonity.net

मेरे दोस्त किस्सा ये क्या हो गया...सुना है के तू बेवफा हो गया...

15.07.2011 08:51 EDT
बहुत खुब दोस्त ! बहुत अच्छा किया..एक दोस्त का दिल दूसरा दोस्त तोड़े उससे ज्यादा अच्छा और क्या हो सकता है. अपऩ तेरे को
टूडे थैंक्यू बोलना मांगता है..थैंक्यू यार जो तुमने अपुन पर इत्ता बड़ा अहसान किया..आज तुमने अपुन को जो सिखाया वो इधर की
अक्खी पब्लिक मिल के भी नहीं सिखा पाए.. लोग यहाँ आते थे कहते थे कि सब झूठ है, बकवास है, दोस्त या दोस्ती जैसा इधर कुछ नहीं
होता, पर साला अपुन के भेजे के भजिए में कुछ जाताईच नहीं था...येड़ा था अपुन भी..सोचता था के अपन के पास तू है तेरे जैसे ही
ये सब पंटर लोग जो अपन को अपना बीड़ू बोलते हैं,सब सच बोलते हैं !! येड़ा था किसी की नहीं सुनता था साला..पन थैंक्यू दोस्त
तूने एक बार समझाया और देख देख..देख ना, इस सटकेले की खोपड़ी में भी बात घुस ही गई...
अरे जब अपुन तेरे जैसे जिगरी का कुछ नहीं बन सका तो किसी और का क्या ख़ाक बनेगा? थैंक्यू दोस्त क्योंकि तूने अपन को सिखाया कि
यहाँ लोग सच के व्रेपर में लपेट कर झूठ का लॉलीपॉप किस तरह पकड़ाते हैं, अरे जब अपुन के दोस्त ने ही कभी कोई सच नहीं बोला तो
कोई और साला क्या बोलेगा.. आई शपथ आज के बाद इधर किसी पर भी बिलीव नहीं करेगा
अभी अपन को कोई और दोस्त नहीं मांगता है, साला तुम भी नहीं..अब और रोने को नहीं सकता है ना
ए दोस्त देख यार हम कितने बदल गए हैं रे,पहले तू एक बार थैंक्यू बोलऩे पर ही झगड़ा करने लगता था..याद है साले या भूल गया
बोलता था कि फ्रैंड बोलने का तो सॉरी या थैंक्यू नको बोलने का..ये कि फ्रैंड लोगों में साला इन वर्डज् के लिए प्लेसइच नहीं
बनेला है. आज क्या हुआ इतनी बार थैंक्यू बोला तब भी खामोश है, झगड़ा नहीं करेगा? आज तुझसे कुछ रिक्वेस्ट भी करने का है यार
मानेगा ना? ज्यादा कुछ नहीं बस इतना ई बोलने का है कि ,इन फ्यूचर, अपने किसी टाईमपास को फ्रैंड बोल के खुश मत करना यार
अगर गलती से बोल दो तो तुझे उस नीली छतरी वाले की कसम कभी उसे इस तरह ठुकराना मत. इधर हाँ इधर सीने में बहुत दुखता है यार
अपन तो साला येड़ा है, अपन क्या समझेगा कि दोस्त क्या और दोस्ती क्या? आज तुझ से जो सीखा है तो बस इतना ही बोलेगा,अगर दोस्ती इसे
कहते हैं जैसा तुने अपन से किया तो कुछ नहीं सीखने का है,साला ना कोई दोस्त बनाने का,ना किसी का दोस्त बनने का... भाड़ ...
Next part ►


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.