peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Mobile Blog


dev download - Woman
anita0.peperonity.net

its nice to read and adopt

18.04.2016 09:21 EDT
क्या खूब लिखा है किसी ने आगे सफर था और पीछे हमसफ़र था रुकते तो सफर छूट जाता और चलते तो हमसफर छूट जाता *********** मंजिल की भी हसरत थी और उनसे भी महोब्बत थी ए दिल तू ही बता उस वक्त मैं कहा जाता *****मुद्दत का सफर भी था और बरसो का हम सफर भी था *************** रुकते तो बिछड़ जाते और चलते तो बिखर जाते ********************यू समझ लो प्यास लगी थी गजब की मगर पानी मैं जहर था ****** पीते तो मर जाते और ना पीते तो भी मर जाते **** बस यही दो मसले जिंदगी ना भर हल हुए ******* ना नीद पूरी हुई ना ख्वाब मुकम्मल हुए ********* वक्त ने कहा * काश थोडा और सब्र होता******* सब्र ने कहा काश थोडा और वक्त होता ******** सुबह सुबह उठना पड़ता है कमाने के लिए साहेब आराम कमाने निकलता हु आराम छोड़कर ******* हुनर सड़को पर तमाश करता है और किस्मत महलो मे राज करती है*** शिकायत तो बहोत है तुझसे ऐ जिंदगी पर चुप इसलिए हु की जो दिया तूने वो बहुतो को नशीब नहीं होता *********** अजीब सौदागर है ये वक्त भी जवानी का लालच दे के बचपन ले गया अब अमीरी का लालच दे के जवानी ले जायेगा ***** लोट आता हूँ वापस घर की तरफ ***हर रोज थका -हरा आज तक समझ नहीं आया की जीने के लिए काम करता हु या *काम करने के लिए जीत हु**************** बचपन में सबसे अधिक बार पूछा गया सवाल बड़े होकर क्या बनाना है** जवाब आब मिला -फिर से बच्चा बनाना है ** थक गया हु तेरी नोकरी से ऐ ज़िन्दगी मुनासिब होगा मेरा हिसाब कर दे *******दोस्त से बिछड़ कर यहाँ हकीकत खुली *****बेशक कमीने थे पर रौनक उन्ही से थी ***** भरी जेब ने दुनिया "की पहेचान कराई और खाली जेब ने अपनो की " जब लगे पैसा कमाने तो समझ आय शौक तो माँ - बाप के पेसो से पुरे होते थे******अपनों पैसा से तो सिर्फ जरुरते पूरी होती है ************ हँसने की इच्छा न हो *** तो भी हसना पड़ता है , कोई जब पूछे कैश हौ =तो मजे में हु कहना पड़ता है ये जिन्दगी का राग मंच है दोस्तों यहाँ हर एक को नाटक करना पडता है*****माचिस की जरुरत यहाँ नहीं पड़ता यहाँ आदमी आदमी से जल ??????
26 Comments:
very separate and practical observation of life which have different type of test in human mind.very butifull and true.
04.09.2017 13:00 EDT,
Next part ►


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.