peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Mobile Blog


anjali8210.peperonity.net
27.06.2014 23:21 EDT
गर्व से कहो हम हिन्दू है...हिंदुस्तानहमारा है.बच्चा बच्चा राम का जनम भूमि केकाम का.राम लला हम आएंगे मंदिरवही बनायेगे..लाठी गोली खायेगे फिरअयोध्या जायेंगे ....जिस हिन्दू का खून न खोले,खूननहीं वो पानी है...जो राम के काम न आये वो बेकारजवानी है
16 Comments:
मजहब और जेहाद की आड़ में नफरत की खेती आज पूरी दुनिया में लहलहा रही है। दहशतगर्दी, मारकाट और फिदायीन इसी खेती की फसलें हैं। दिल के खेत में कोई नफरत बोए तो नफरत की ही पैदावार होगी, मोहब्बत की नहीं।
29.06.2014 01:34 EDT,
नादान इंसान को दूसरों के लिए गड्ढा खोदने के लिए पहले खुद गड्ढे में उतरना पड़ता है, वह नादान इंसान कोई भी हो सकता है, किसी धर्म या देश का हो सकता है।
29.06.2014 01:18 EDT,
वाह रे इंसान! सब कुछ जानते हुए भी सच्चाई से मुँह फेर लेना चाहता है। इंसान खुद अनजान बन कर अज्ञानता के अँधेरे में भटकना चाहता है ताकि वह अपने को अच्छा और दूसरों को ओछा साबित कर सके ।
29.06.2014 01:09 EDT,
क्या यह सच नहीं कि हिंदू अपनी पहचान के लिए शिखा(चोटी), मूँछ रखते हैं तो मुस्लिम अपने को हिंदुओं से दो कदम आगे रहने के लिए पूरी दाढ़ी रखते हैं। सिख इन दोनों से भी चार गुना अधिक अच्छा जताने के लिए मूँछ, दाढ़ी के साथ सिर के केश भी रखते हैं।
29.06.2014 00:58 EDT,
क्या यह सच नहीं है कि मनुष्यों ने अपने आप को दूसरे से अच्छा जताने के लिए धर्म, जाति, सम्प्रदाय, वर्ण के भेद कर वैमनस्य की तरह-तरह की दीवारें खड़ी कर दीं, तरह-तरह की खाइयाँ खोद दीं।
29.06.2014 00:43 EDT,
Next part ►


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.