peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Mobile Blog


anjali8210.peperonity.net
29.06.2014 04:04 EDT
कोई कहेता है मे ठाकुर हूकोई कहेता है मे धोबी हूकोई कहेता है मे नाई हूकोई कहेता है मे पँडित हुकोई कहेता है मे यादव हूलेकिन कोई ये कहेने को तैयार नही केमे हिँन्दु हू....एक बार फिरसे सुन लो सभी लोग...जब जब हिँन्दु बटता हैतब तब हिँन्दु कटता हैगर्व से कहो हम हिँन्दु हैजय श्री रामहर हर महादेव
6 Comments:
afsos hota hai kuch log nafrat phailane ki baat karte hain,,woh shaid bhul gaye hain ke iss mulk me har dharam ke log hazaro baras se rah rahe hain,,aaise pakhandi log inn ko alag karne ki baat karte hain,,iss mulk me aaise log khane me namak se bhi kam hai,,aur bahut log hai jo aman chahte hain,,bas karo nafrat phialane ki baat
29.06.2014 10:15 EDT,
और ये अकल का अंधा आदमी इस बाँट-बँटवारे में बड़ा खुश है। यह आदमी बँटते-बँटते इतने छोटे-छोटे टुकड़ों में बँट गया है कि वह अपने को टुकड़ा ही मान बैठा है। भूल गया कि वह आदमी है।
29.06.2014 07:51 EDT,
गोत्र भी नये-पुराने। इस भेद या बँटवारे का कोई ओर-छोर, कोई सिरा, कोई अंत नजर नहीं आता। बोली-भाषा, खान-पान, वेश-भूषा, रहन-सहन, राति-रिवाज, रंग-रूप, मेले-त्यौहार का अंतर
29.06.2014 07:38 EDT,
सारी संकीर्णताओं की जड़ यही है। असली पहचान है मनुष्य। मनुष्य के दो लिंग हैं - पुरुष और स्त्री। लेकिन मनुष्य ने कितने भेद कर डाले हैं। धरती परमहाद्वीप, महाद्वीप में देश, देश में पूर्वी-पश्चिमी या उत्तरी-दक्षिणी, दिशाओं में प्रदेश, प्रदेश में क्षेत्र।
29.06.2014 07:11 EDT,
जब एक धर्म का होते हुए कोई ब्राह्मण या क्षत्रिय नहीं चाहता कि जातिवाद का भेदभाव समाप्त हो तो हम यह कैसे आस करें मुसलमान और हिंदू एक होकर मिलजुल कर रहें।
29.06.2014 06:57 EDT,
हमें गर्व है कि हम हिन्दू हैं


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.