peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Mobile Blog


zxyzhind
chhindwara.peperonity.net

first woman_pm indiya

08.07.2013 00:08 EDT
इस नालायक सरकार ने इंदिरा गाँधी को एक बहुत ही जिम्मेदार ,
ताकतवर और राष्ट्रभक्त महिला बताया हैं ,
चलिए इसकी कुछ कडवी हकीकत से मैं भी आज आपको रूबरू करवाता हूँ !!! ...........
इंदिरा प्रियदर्शिनी नेहरू राजवंश में अनैतिकता को नयी ऊँचाई पर पहुचाया. ...........
बौद्धिक इंदिरा को ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में भर्ती कराया गया था लेकिन वहाँ से जल्दी ही पढाई में खराबप्रदर्शन के कारण बाहर निकाल दी गयी............
उसके बाद उनको शांतिनिकेतन विश्वविद्यालय में भर्ती कराया गया था,
लेकिन गुरु देव रवीन्द्रनाथ टैगोर नेउन्हें उसके दुराचरण के लिए बाहर कर दिया............
शान्तिनिकेतन से बहार निकाल जाने के बाद इंदिरा अकेली हो गयी.
...........राजनीतिज्ञ के रूप में पिता राजनीति के साथ व्यस्त था और मां तपेदिक के स्विट्जरलैंड में मर रही थी. ...........
उनके इस अकेलेपन का फायदा फ़िरोज़खान नाम के व्यापारी ने उठाया............
फ़िरोज़ खान मोतीलाल नेहरु के घर पे मेहेंगी विदेशी शराब की आपूर्ति किया करता था............
फ़िरोज़ खान और इंदिरा के बीच प्रेम सम्बन्ध स्थापित हो गए.
...........महाराष्ट्र के तत्कालीन राज्यपाल डा. श्री प्रकाश नेहरू ने चेतावनी दी,
कि फिरोज खान के साथ अवैध संबंध बना रहा था.
...........फिरोज खान इंग्लैंड में तो था औरइंदिरा के प्रति उसकी बहुत सहानुभूति थी. ...............................................................................................................................................जल्द ही वह अपने धर्म का त्याग कर,एक मुस्लिम महिला बनीं और लंदन केएक मस्जिद में फिरोज खान से उसकी शादी होगयी.
........... इंदिरा प्रियदर्शिनी नेहरू ने नया नाम मैमुना बेगम रख लिया. उनकी मां कमला नेहरू इस शादी से काफी नाराज़ थी जिसके कारण उनकी तबियत और ज्यादा बिगड़ गयी.
...........नेहरू भी इस धर्म रूपांतरण से खुश नहीं थे क्युकी इससे इंदिरा के प्रधानमंत्री बन्ने की सम्भावना खतरे में आ गयी. ...........तो, नेहरू ने युवा फिरोज खान से कहा कि अपना उपनाम खान से गांधी कर लो.
........... परन्तु इसका इस्लामसे हिंदू धर्म में परिवर्तन के साथ कोई लेना - देना नहीं था.
........... यह सिर्फ एक शपथ पत्र द्वारा नाम परिवर्तन का एक मामला था.
.......... और फिरोज खान फिरोज गांधी बन गया है, हालांकि यह बिस्मिल्लाह शर्मा की तरहएक असंगत नाम है. दोनों ने ही भारत की जनता को मूर्ख बनाने के लिए ...
Next part ►


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.