peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Text page


n - Newest pictures
a.i.love.allah.peperonity.net

♥Keep the Shaitan♥

Pray 5 times a day,

Keep the Shaitan away.

ऐअहलेकिताबअपनेदीनमेंहद(एतदाल)सेतजावुज़नकरोऔरख़ुदाकीशानमेंसचकेसिवा(कोईदूसरीबात)नकहोमरियमकेबेटेईसामसीह(नख़ुदाथेनख़ुदाकेबेटे)पसख़ुदाकेएकरसूलऔरउसकेकलमे(हुक्म)थेजिसेख़ुदानेमरियमकेपासभेजदियाथा(किहामलाहोजा)औरख़ुदाकीतरफ़सेएकजानथेपसख़ुदाऔरउसकेरसूलोंपरईमानलाओऔरतीन(ख़ुदा)केक़ायलनबनो(तसलीससे)बाज़रहो(और)अपनीभलाई(तौहीद)काक़सदकरोअल्लाहतोबसयकतामाबूदहैवहउस(नुक्स)सेपाकवपाकीज़ाहैउसकाकोईलड़काहो(उसेलड़केकीहाजतहीक्याहै)जोकुछआसमानोंमेंहैऔरजोकुछज़मीनमेंहैसबतोउसीकाहैऔरख़ुदातोकारसाज़ीमेंकाफ़ीहैनतोमसीहहीख़ुदाकाबन्दाहोनेसेहरगिज़इन्कारकरसकतेहैंऔरन(ख़ुदाके)मुक़र्ररफ़रिश्तेऔर(यादरहे)जोशख्सउसकेबन्दाहोनेसेइन्कारकरेगाऔरशेख़ीकरेगातोअनक़रीबहीख़ुदाउनसबकोअपनीतरफ़उठालेगा(औरहरएककोउसकेकामकीसज़ादेगा)पसजिनलोगोंनेईमानकुबूलकियाहैऔरअच्छे(अच्छे)कामकिएहैंउनकाउन्हेंसवाबपूरापूराभरदेगाबल्किअपनेफ़ज़ल(वकरम)सेकुछऔरज्यादाहीदेगाऔरलोगउसकाबन्दा... Continue Reading
ऐ अहले किताब अपने दीन में हद (एतदाल) से तजावुज़ न करो और ख़ुदा की शान में सच के सिवा (कोई दूसरी बात) न कहो मरियम के बेटे ईसा मसीह (न ख़ुदा थे न ख़ुदा के बेटे) पस ख़ुदा के एक रसूल और उसके कलमे (हुक्म) थे जिसे ख़ुदा ने मरियम के पास भेज दिया था (कि हामला हो जा) और ख़ुदा की तरफ़ से एक जान थे पस ख़ुदा और उसके रसूलों पर ईमान लाओ और तीन (ख़ुदा) के क़ायल न बनो (तसलीस से) बाज़ रहो (और) अपनी भलाई (तौहीद) का क़सद करो अल्लाह तो बस यकता माबूद है वह उस (नुक्स) से पाक व पाकीज़ा है उसका कोई लड़का हो (उसे लड़के की हाजत ही क्या है) जो कुछ आसमानों में है और जो कुछ ज़मीन में है सब तो उसी का है और ख़ुदा तो कारसाज़ी में काफ़ी है न तो मसीह ही ख़ुदा का बन्दा होने से हरगिज़ इन्कार कर सकते हैं और न (ख़ुदा के) मुक़र्रर फ़रिश्ते और (याद रहे) जो शख्स उसके बन्दा होने से इन्कार करेगा और शेख़ी करेगा तो अनक़रीब ही ख़ुदा उन सबको अपनी तरफ़ उठा लेगा (और हर एक को उसके काम की सज़ा देगा) पस जिन लोगों ने ईमान कुबूल किया है और अच्छे (अच्छे) काम किए हैं उनका उन्हें सवाब पूरा पूरा भर देगा बल्कि अपने फ़ज़ल (व करम) से कुछ और ज्यादा ही देगा और लोग उसका बन्दा होने से इन्कार करते थे और शेख़ी करते थे ...


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.