peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Guestbook


ballia.peperonity.net

LEAVE UR COMMENT

ADD UR SITE, SITE ADDRESS, SITE NAME, LOCATION

PLZ LEAVE UR COMMENT IN MY GUSTBOOK OR ADD UR SITE HERE THANKYOU
32 Comments:
EXCLUSIV==>> new games,3D and gamel0ft, and software,teme,aplikati,video,animati..etc.pe==>>ToP-JaVaGaMeS.peperonity.net<<==>>ToP-JaVaGaMeS.peperonity.net>>>se kauta parteneri k peste 55.000 vizite! Va astept pe siteul meu>>>
http://top-javagames.peperonity.net/
07.05.2008 11:08 EDT,
☆ ☆☆☆☆☆☆ ☆☆☆☆ ☆☆ ☆☆☆☆ ☆☆ ☆ ☆☆☆☆☆ ☆☆☆☆☆☆ ☆☆ ☆☆☆... Eliseo4vegas.peperonity.net
25.04.2008 01:39 EDT,
सरदासपुरी जी जँहा तक हो सके हिन्दी के शुद्ध शब्दो का प्रयोग करे।
धन्यवाद
16.04.2008 09:45 EDT,
नाथुराम गोडसे कोई पेशेवर मुजरिम या सुपारी किलर नही था वह भी भावनाओ मे बहनेवाला लङका था, गाँधी को मै भी राष्ट्रपिता नही मानता जो एक परिवार (देश) को विभाजित होने से ना बचा सके वो काहे का पिता
16.04.2008 09:38 EDT,
आपने ठीक लिखा है गाँधी सिर्फ यह चाहते थे कि उनकी जयजयकार हो जब दिल्ली मे मुसलमानो को मारा जा रहा था तब गाँधी आमरण अनशन पर बैठ गये लेकिन जब मुसलमानो ने पाकिस्तान मेँ 150 हिन्दुओ का कत्ल कर दिया तब इसी गाँधी ने कहा था कि ये शुभ समाचार है कि हिन्दुओ ने शाँति के लिए अपने प्राण त्याग दिए। एक ही अपराध के लिए अलग 2 कसौटी क्यो अगर हन्दुओ ने शाँति के लिए बलिदान दिया तो फिर गाँधी मुसलमानो के लिए अनशन पर क्यो बैठे। अपना सर ऊँचा रखने के लिए भगत सिँह को भी शहीद हो जाने दिया
"दल्ली" लेखक "खुशवँत सिँह" से
15.04.2008 11:09 EDT,


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.