peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Text page


guvar.peperonity.net

अंतरिम घोषणा - पत्र

.•°°°•.
प्रस्तावित जमींदारा पार्टी (नेशनल युनियनिस्ट पार्टी) सदस्यों के सुझाव आमन्त्रित करने हेतु

1. राज्य में चार सरकारी बीज फार्म बनाए जाए जिनमें उत्पादित ब्रीडर बीजो को प्रत्येक वर्ष एक कनाल (500 वर्गमीटर) में बोनेके लिए राज्य के प्रत्येक किसान को ये बीज निःषुल्क उपलब्ध कराए जाए। इस प्रकार किसान बीजों को स्वय के स्तर पर उत्पादित कर अगले वर्ष उन बीजों को प्रयोग कर अच्छी फसल लेकर कम लागत पर अधिक फसल लेसके। ये निःषुल्क बीज लेने वाले किसानों के न्प्क् बनाए जाए।

2. वर्षा के पानी को इकट्ठा कर सिंचाई तथा पीने के लिए उपलब्ध कराने के लिए पूरे राज्य में छोटे तथा बड़े 55 बांधों का निर्माण विष्व बैक की आर्थिक सहायता लेकर किया जाए। इसप्रकार राज्य में उपलब्ध वर्षा के पानी की कुल 248 KM3 मात्रा में से प्रथम चरण में कम सेकम 25 प्रतिषत (62KM3) पानी को इन बांधों में भण्डारण कर कृषि उत्पादन को बीकानेर तथा जोधपुर संभागों के अतिक्ति झुन्झनू जिले में भी सिंचाई पानी उपलब्ध कराया जाए। 62KM3 पानी पूरे देष में प्रयोग किए जाने वाले 478KM3 पानी का8वां हिस्सा होगा जो कृषि क्षेत्र में क्रांति ला सके।

3. गंगनहर, भाखड़ा नहर,सिद्धमुख नहर तथा इंदिरागाधी नहर सभी नहरों के दोनो किनारों के साथ लगती रकबा राज की जमीन पर तारबन्दी कर पंजाब तथा हरियाणा क्षेत्रोंमें हो रही पानी चोरी बन्द की जाए। तारबन्दी करने के बाद इन नहरों में पानी के स्तर को जरूरत अनुसार बढ़ाने के लिए नहरों के साथ-साथ नलकूप लगाएं जाए ताकि पर्याप्त मात्रा में पानी बिजाई तथा फसल पकाई के समय उपलब्ध कराया जा सके।

4. घग्घर नदी के पानी को हनुमानगढ़ क्षेत्र से पम्पिंग कर दो बांधों मंे डाला जाए जिनका निर्माण सूरतगढ़ तथा अनूपगढ़ क्षेत्रोंमें किया जाए। इन बांधो को अरावली पर्वत (सिरोही/आबुरोड़) के पानी से भी जोड़ाजाए ताकि वर्षा का पानी सरक्षित कर इन क्षेत्रांे को नियमित सिंचाई पानी उपलब्ध कराया जा सके।

5. जैसलमेर क्षेत्र में उपलब्ध सरस्वती नदी के पानी का उपयोग सिंचाई व पीने के लिए लिबिया में बनी ‘मानव निर्मित महानदी’ की तर्ज पर किया जाए ताकि भारतीय महामरूस्थल(बाड़मेर जोधपुर तथा जैसलमेर जिलों)को सिंचित कर देश में खाद्यान उत्पादन तथा खाद्य तेलों तथा दालों के उत्पादन को बढ़ाकर आयतित ...
Next part ►


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.