peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Text page


......
islamic.jihad.in.india.peperonity.net

कुरान,जेहादी हिंसा की जननी

भारत पर राज्य करने वाले मुस्लिम शासक, भूमण्डल के विभिन्न युगों, वंशों, और क्षेत्रों से सम्बन्धित थे। उनकी भाषायें भिन्न थीं किन्तु उनके व्यवहार का प्रारूप् पूर्णतः एक समान था और वह अब भी है। इस चमत्कारिक व्यवहार की एकरूपता, का कारण कुरान, हदीस, सुन्नाह आदि में ही निहित है जिन्हें कि वे गर्व के साथ न केवल उद्धत करतेहैं बल्कि अनुसरण भी करते हैं। इस्लामी पंथ के दो पहलू हैं। एक है सैद्धान्तिक पक्ष जो कि इस्लामी धर्म ग्रन्थों, कुरान (अल्लाह के इलहाम या प्रगटीकरण), हदीसों (पैगम्बर के कर्म और वचन) और सुन्नाह (पैगम्बर द्वारा बनाये नियम) द्वारा प्रतिपादित है। दूसरा पक्ष है जिहाद यानी कि इस्लामी धर्म युद्ध। ये दोनों पक्ष आपस में पूरी तरह जुड़े हुए हैंऔर यह पवित्र कुरान ही है जो कि अल्लाह के मार्ग में अल्लाह के लिए इस्लामी संघर्ष,”जिहाद” करने को प्रेरित तथा निर्देश करता है, मार्गदर्शन् करता है।
आज भूमण्डल के सभी प्रबुद्ध नागरिक, विभिन्न भागों में बोस्नियाँ से लेकर फिलिपाइन तक, चैचिनियाँ से लेकर कश्मीर तक, रह रहे हैं, अरबी शब्द ”जिहाद”, से किसी न किसी मात्रा में परिचित हो चुके हैं, और कुछ न कुछ अनुभव भी कर चुके हैं। विश्व के किसी भी कोने में सही, यह शब्द ”इस्लामी जिहाद”, समान रूप से एकजैसी ही विशिष्टता, यानी कि मुस्लिमेतर समाज के प्रति सहिष्णुता, और उसका नर संहार तथाकथित काफिरों की सम्पत्ति की लूट व अग्निदाह, और उनकी महिलाओं का शील हरण, प्रगट करता है। मुहम्मद के समय में बदर के युद्ध केमुजाहिदों से लेकर वर्तमान में ओसामा बिन लादेन के मुजाहिदों की भावनाएं पहले जैसी अपरिवर्तित ही हैं। लैफ्टिनैण्ट सौरभ कालिया के द्गारीर के वध और उनके शव के विकृतीकरण से लेकर, २५.१२.२००० को जकार्ता में बम विस्फोट, ११.९.२००१ को न्यूयार्क के वर्ल्ड ट्रेड सैण्टर और वाशिंगटन के पैण्टागत के विध्वंस तथा १.१०.२००१ को कश्मीरमें एसैम्बली भवन पर बम विस्फोट तथा संसद भवन पर हमला (१३.१२.२००१) तक के आतंकवाद तथा अत्याचारों की शैली एक जैसी ही है।
अल्लाह और उसके पैगम्बर के अनुयायियों के व्यवहार प्रारूप की एक रूपता के उचित स्पष्टीकरण के लिए मुस्लिम ...


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.