peperonity.net
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Text page


indonesia fondamentalisti...
islamic.jihad.in.india.peperonity.net

जेहाद क्या है??

जिहाद मुसलमानों के लिए एक सर्वोच्च व सर्वाधिक
महत्वपूर्ण कर्तव्य है। जिहाद का अर्थ है गैर-
मुसलमानों पर आक्रमण करना, उनका वध करना, दास
बना लेना, धर्मान्तरण कर देना, भले को उन्होंने
मुसलमानों की कोई कैसी भी हानि नहीं की है और भले
ही वे निहत्थे हैं। जिहाद अल्लाह के लिए किया जाता है।
अल्लाह की सेवा के लिए पूजा और युद्ध एक समान हैं।
जिहाद से बचना सबसे बड़ा पाप व अपराध है; जिहाद के
माध्यम से महिमा, बड़प्पन प्राप्त कर लेना सबसे
बड़ा लाभ वा उपलब्धि है। इस्लाम में विश्व विजय कर लेने
सम्बन्धी अहंकार का एक भीषण रोग है। इस्लाम कहता है
कि उसे दूसरे पन्थों पर विजय प्राप्त कर लेनी है
क्योंकि वह ही अकेला अन्तिम सच है शेष सारे पन्थ
पूरी तरह झूठ हैं। यही रूढ़िवादिता है।
रूढ़िवादिता एक दृढ़ विश्वास है कि उसके पन्थ के धर्म
ग्रन्थों का सन्देश ही एक मात्र अन्तिम सत्य है और उसमें
कोई कैसी त्रुटि वा अभाव नहीं है। इस्लाम में
रूढ़िवादिता आकस्मिक न होकर एक अनिवार्यता है।
इस्लाम में ज्ञान का आय पान्थिक ज्ञान है जो पैगम्बर
मुहम्मद को अल्लाह द्वारा प्रगटीकरण से उपलब्ध
कराया गया था और तर्क यही है कि इस्लाम में जो कुछ है
वह ही एक मात्र सच है। वह परिवर्तनशीलता के अभाव
को ही शक्ति मानता है। यही कारण है
कि इस्लामी धार्मिक नेताओं व विचारकों को सुधार शब्द
से असीमित घृणा है। इस्लामी धर्म ग्रन्थों में आदेश,
निर्देश व आज्ञायें ही भरी पड़ी हैं और विचार विनिमय,
एवं व्यापक सहमति के लिए कोई कैसा भी अवसर व स्थान
नहीं है।इस्लामी धर्म ग्रन्थों के अनुसार गैर-मुसलमानों के
विरुद्ध युद्ध जिहाद है।
जिहाद अल्लाह की सेवा के लिए ही किया जाता है।
पाकिस्तानी सेना के ब्रिगेडियर एस.के. मलिक
जो ”कुरानिक कन्सैप्ट ऑफ वार” के लेखक और एक
इस्लामी विद्वान भी हैं, के अनुसार, ”युद्ध के संदर्भ में
कुरान सम्बन्धी प्रमुख मार्गदर्शक तत्व यह है कि युद्ध
अल्लाह के उद्देश्य की पूर्ति के लिए ही लड़ा जाता है।”
जो लोग इस सर्वाधिक उपयोगी दैवीय उद्देश्य
की पूर्ति के लिए युद्ध करते हैं, उनके लिए कुरान
अति आकर्षक, उत्तम, स्वर्गीय उपहारों की प्रतिज्ञा व
व्यवस्था करता है। अल्लाह के उद्देश्य की पूर्ति के ...


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.